कौन कौन मिलने वाले हैं मुख्यमंत्री योगी से

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री भारत देश के पांचवें हिस्से का सबसे अहम् किरदार है| इस लिहाज से देश ही नहीं दुनिया के लिए भी खास अहमियत रखता है| लेकिन शायद इस बार कद और ज्यादा बढ़ रहा है| अमेरिकी और ब्रिटिश कंपनियों में बोइंग, मेर्क, प्रैट एंड व्हिटनी, मेडट्रोनिक, एडोबी, कोकाकोला, उबेर, हनीवेल, प्रॉक्टर एंड गैम्बल और कारगिल दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों के मुखिया योगीजी से मिलने को बेक़रार हैं| इनके प्रतिनिधि योगीजी से मिलकर निवेश के अवसरों पर चर्चा करेंगे| प्रदेश के प्रमुख सचिव राजीव कुमार इसके बारे में बताएँगे कि सरकार इन विदेशी फर्मों के लिए क्या सहूलियतें मुहैया कराने जा रही है| मीटिंग में अमेरिकी दूतावास और यूएस ट्रेड एंड डेवलपमेंट एजेंसी के अधिकारी भी शामिल होंगे| 
इन बैठकों के सिलसिले कोई नयी बात नहीं लेकिन इसमें दो अहम् बिंदु हैं, पहला है यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम और दूसरा प्रदेश सरकार की इंडस्ट्रियल इन्वेस्टमेंट एंड एम्प्लॉयमेंट प्रमोशन पालिसी| इन्ही के मार्फ़त मेडिकल क्षेत्र की अमेरिकी कंपनियों को बुलावा दिया जा रहा है| जीई हेल्थकेयर, मर्क शार्प, एमएसडी और मेडट्रोनिक ने प्रदेश सरकार की नयी नीतियों में खास रूचि ली है जिसके तहत सरकार उत्तर प्रदेश की चिकित्सा सेवाओं को सर्वसुलभ बनाया जा सके| मास्टर कार्ड, अजुर पॉवर, कारगिल और प्रैट एंड व्हिटनी सरीखी कंपनियों ने मौजूदा उद्योगों को एन्त्रेप्रेनुरेशिप और इनोवेशन के अवसर मुहैया कराने में रूचि दिखाई है| यूसी बर्कले ने इलाहाबाद में यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम के साथ मिलकर पहली इनोवेशन लैब शुरू करने की योजना बनाई है| इस लैब से लोकल उद्योगों और स्टार्ट अप्स को वित्तीय और तकनिकी सहायता दी जाएगी| यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम उत्तर प्रदेश में उर्जा, कचरा प्रबंधन, यातायात, स्वास्थ्य, कृषि और सुचना तकनिकी के क्षेत्र में संभावनाएं तलाश रहा है|

Comments

Popular posts from this blog

तीन टन प्लास्टिक लेकर बंगाल की खाड़ी में गिरती हैं गंगा और ब्रह्मपुत्र

क्या दलित चेतना में भी सुलग रहा है गाय का सवाल !

माफ़ कीजियेगा... अब शायद बात हाथ से निकल चुकी है!